EVENTS & FESTIVALS

Gudi Padwa 2021 Rangoli Designs: गुड़ी पड़वा पर रंगोली से घर के मुख्य द्वार की सुंदरता बढ़ाएं, देखें लेटेस्ट और आकर्षक डिजाइन्स

Rate this post


Gudi Padwa 2021 Rangoli Designs: गुड़ी पड़वा पर रंगोली से घर के मुख्य द्वार की सुंदरता बढ़ाएं, देखें लेटेस्ट और आकर्षक डिजाइन्स
- Advertisement-

गुड़ी पड़वा 2021 रंगोली डिजाइन (Photograph Credit: Instagram)

- Advertisement-

Gudi Padwa 2021 Rangoli Designs: चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को गुड़ी पड़वा (Gudi Padwa) का त्योहार महाराष्ट्र (Maharashtra), गोवा (Goa) और दक्षिण भारत के कई राज्यों में धूमधाम से मनाया जाता है. इस दिन से हिंदू नव वर्ष (Hindu New Yr) की शुरुआत होती है, किसान नई फसल के तैयार होने की खुशी में इस दिन को फसल दिवस के तौर पर मनाते हैं. इसके साथ ही इसी दिन से चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri) की शुरुआत होती है. इस दिन से जुड़ी पौराणिक मान्यता के अनुसार, इसी दिन भगवान ब्रह्मा ने सृष्टि का निर्माण किया था और इसी दिन से सतयुग की शुरुआत हुई थी. गुड़ी का अर्थ है विजय पताका और पड़वा का अर्थ है प्रतिपदा तिथि, इसलिए चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को लोग अपने घरों में विजय के प्रतीक के तौर पर गुड़ी सजाते हैं. कहा जाता है इस दिन गुड़ी फहराने से घर में सुख-समृद्धि आती है.

गुड़ी पड़वा के पर्व को मराठी समुदाय के लोग बहुत धूमधाम से मनाते हैं, क्योंकि मराठियों के लिए इसे नए साल का पर्व माना जाता है. इस दिन लोग अपने घरों की साफ-सफाई करते हैं और घर के मुख्य द्वार पर रंगोली (Rangoli) बनाते हैं. आप भी अपने घर के मुख्य द्वार को गुड़ी पड़वा पर रंगोली के मनमोहक डिजाइन से सजा सकें, इसलिए हम लेकर आए हैं रंगोली के लेटेस्ट और आकर्षक डिजाइन्स… यह भी पढ़ें: Gudi Padwa 2021 Mehndi Designs: गुड़ी पड़वा पर मेहंदी से अपने हाथों की सुंदरता में लगाएं चार चांद, देखें लेटेस्टऔर खूबसूरत डिजाइन्स

गुड़ी पड़वा स्पेशल रंगोली

- Advertisement-

गुड़ी पड़वा आसान रंगोली डिजाइन

- Advertisement-

गुड़ी पड़वा की खूबसूरत रंगोली

गुड़ी पड़वा के लिए ईजी रंगोली डिजाइन

- Advertisement-

यह भी पढ़ें: Gudi Padwa 2021: गुड़ी पड़वा के दिन इन चीजों की खरीदारी हो सकती है शुभकारी, जानें क्या खरीदें

गुड़ी पड़वा रंगोली पैटर्न

गुड़ी पड़वा फ्लावर रंगोली

गौरतलब है कि गुड़ी पड़वा पर गुड़ी सजाने के अलावा लोग अपने घर के गेट पर आम या अशोक के पत्तों का तोरण लगाते हैं. इस त्योहार में मिठास घोलने के लिए पूरन पोली बनाई जाती है. दरअसल, पूरन पोली को महाराष्ट्र का खास पकवान माना जाता है. कहा जाता है कि युद्ध में विजय प्राप्त करने के बाद मराठा साम्राज्य के महान शासक छत्रपति शिवाजी महाराज ने पहली बार गुड़ी पड़वा का पर्व मनाया था, तभी से हर साल इस त्योहार को मनाया जा रहा है.

//vdo (function(v,d,o,ai){ai=d.createElement('script');ai.defer=true;ai.async=true;ai.src=v.location.protocol+o;d.head.appendChild(ai);})(window, document, '//a.vdo.ai/core/latestly/vdo.ai.js');

//colombai try{ (function() { var cads = document.createElement("script"); cads.async = true; cads.type = "text/javascript"; cads.src = "https://static.clmbtech.com/ase/80185/3040/c1.js"; var node = document.getElementsByTagName("script")[0]; node.parentNode.insertBefore(cads, node); })(); }catch(e){}

} });


Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker
close button